Don’t see Solar Eclipse by nude eyes, it may be so harmful for you, i may damage your eyes and retina, use to see Solar Eclipse

लोगों पर ऐसा पड़ सकता है प्रभाव उन्होंने सूर्यग्रहण से लोगों पर पड़ने वाले प्रभाव के बारे में भी बताया. उन्होंने कहा कि जब सूर्य, चंद्रमा और पृथ्वी एक सीध में आ जाते हैं तो इससे मैग्नेटिक प्रभाव पड़ता है. पृथ्वी और चंद्रमा से ज्वार भाटा उठने लगते हैं और तीनों एक सीध में आ जाते है जिसके चलते चुंबकीय तरंगें पैदा होने लगती हैं. इन तरंगों की वजह से कुछ लोगों में मानसिक बेचैनी हो सकती है. सुस्ती भी आ सकती है. इसका सबसे बुरा प्रभाव आंखों पर पड़ता है.
सोलर फिल्टर से ही देखें सूर्य ग्रहण उनका कहना है कि सभी लोग इसको खगोलीय घटना को देखना चाहते हैं. कुछ लोग सूर्यग्रहण को नंगी आंखों से देखने की गलती करते हैं. वहीं, कई लोग चश्मा और एक्स-रे फिल्म लगाकर भी देखते हैं. यह तीनों प्रकार से हानिकारक है. इसको देखने के लिए न तो खुली आंख, ना ही सामान्य चश्मा और ना ही एक्स-रे फिल्म का उपयोग करना चाहिए. क्योंकि सूर्य की अल्ट्रावायलेट किरणें धरती पर आती हैं वे हमारे आंखों के रेटिना पर सीधा प्रभाव डालती हैं.
अल्ट्रावायलेट किरणें की वजह से सूर्य को देर तक देखने के चलते हमारे आंखों के रेटिना डैमेज हो जाते हैं. इसलिए जब भी सूर्यग्रहण को देखना हो तो सोलर फिल्टर के जरिए ही देखें. सूर्यग्रहण देखने के लिए अब चश्मा भी अलग से मिल जाया करता है. अगर फिर भी कोई उपाय नहीं होता तो कम से कम 5-6 एक्सरे फिल्मों को एक साथ लगाकर ही सूर्यग्रहण को देखें लेकिन वह भी पूरी तरह से सुरक्षित नहीं है. इसलिए सोलर फिल्टर का ही इस्तेमाल करके देखना सबसे ज्यादा सुरक्षित है.